गरीबों की मदद के लिए सुशांत बना रहे थे AI पर आधारित मोबाइल एप, नहीं लेते थे ड्र’ग्स- डेनमार्क के एंटरप्रेन्योर ने किया खुलासा

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर आधारित एक मोबाइल ऐप डिवेलप कर रहे थे। यह जानकारी डेनमार्क के रहने वाले एरियन रोमल ने दी है। उन्होंने यह भी बताया कि यह ऐप सुशांत गरीबों की मदद के लिए बनाना चाहते थे। रोमल ने सुशांत के साथ एक पार्टी का भी जिक्र किया जहां उन्होंने श’राब पीने से मना कर दिया था। बताया कि वह अपनी डायट को लेकर कितने स्ट्रिक्ट थे।

रोमल ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस को बताया कि सुशांत आर्टिफिशल इंटेलिजेंस या AI का इस्तेमाल करके भारत के गरीबों की मदद करने का प्लान कर रहे थे। उन्होंने बताया, बीते साल मुंबई में मार्च या अप्रैल के आसपास आखिरी बार मैं सुशांत से मिला था। उस वक्त हमारे बीच टेक्नॉलजी पर बात हुई थी। उन्होंने एक मोबाइल अप्लिकेशन डिवेलप करने का प्लान किया था। वह AI का इस्तेमाल करके कुछ बनाने का प्लान कर रहे थे, जिससे भारत के गरीबों को मदद मिलती। उन्होंने इस पर बात की थी लेकिन ज्यादा खुलासा नहीं किया था क्योंकि ये उनका आइडिया था और इसके चोरी होने का डर था। लेकिन उन्होंने मुझे कॉन्सेप्ट बताया था। उनका उद्देश्य इस ऐप से भारत में गरीबों की मदद करना था। एरियन ने यह भी कहा कि उन्हें कभी नहीं लगा कि सुशांत सिंह ड्र’ग लेते थे। उनका मानना है कि सुशांत की मौ’त के पीछे कोई रहस्य है जो जरूर खुलना चाहिए।

एरियन ने आगे कहा कि, कई लोग होतें हैं, जो किसी पर अपना प्रभाव छोड़ते हैं, सुशांत उनमें से एक थे। मैं ऐप्स बनाने के काम में रहा हूं, इसलिए मुझे ये बातचीत बहुत इंट्रेस्टिंग लगी थी। वह अलग इंसान थे। किसी ऐक्टर के पास इतना नॉलेज होना हैरान करने वाली बात है। एरियन कुछ साल से भारत आते रहे हैं। उन्होंने कुछ हिंदी गाने कम्पोज और प्रड्यूस भी किए हैं।

रोमल 4 साल पुरानी बात याद करते हुए बताते हैं, कई साल पहले मैं उनसे मिला था। उस टाइम वह मलाड में रहते थे। तब मैं पहली बार उनसे मिला था और यह किसी टेलिविजन ऐक्टर की पार्टी थी। मैं अपनी ड्रिंक लेकर सुशांत के बगल में बैठा था, उस वक्त मुझे पता भी नहीं था कि वह कौन हैं। मैंने उनसे ऐसे ही पूछा- भाई तुम्हारा ड्रिंक कहां है? उन्होंने कहा, ‘नहीं भाई मैं डायट मील ले रहा हूं’ वह अपना टिफिन बॉक्स लेकर आए थे जिसमें बॉइल्ड चिकन था। वह वहां डायट मील खाने वाले अकेले इंसान थे जबकि बाकी सब ड्रिंक वगैरह के साथ एंजॉय कर रहे थे। मेरे जोर देने पर भी उन्होंने ड्रिंक नहीं लिया और कहा कि इससे मेरे रोल की तैयारी पर असर पड़ेगा, तभी मुझे लगा था कि ये इंसान अपने काम और डिसिप्लिन का कितना पक्का है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *