गुज़रे ज़माने के कुछ ऐसे विज्ञापन जिन्हें देखकर आप अपना सिर पीट लेंगे; ये क्रिएटिव नहीं, सुपर क्रिएटिव हैं

किसी भी प्रोडक्ट को बाज़ार में लोकप्रिय बनाने के लिए विज्ञापन बहुत ज़रूरी है, तभी तो बड़ी-बड़ी कंपनियां करोड़ों रुपए सिर्फ विज्ञापनों पर ही फूंक डालती हैं और कुछ विज्ञापन वाकई इतने अच्छे होते हैं कि उन्हें बार-बार देखने का मन होता है, मगर सब इतने अच्छे नहीं होते। कुछ विज्ञापन देखने के बाद तो आप अपना सिर पीट लेंगे और सोचेंगे कि आखिर क्या सोचकर इसे बनाया गया है। गुज़रे ज़माने के कुछ ऐसे ही वाहियात विज्ञापन हम आपको दिखाते हैं, जिसने क्रिएटिविटी की ऐसी-तैसी कर दी।

1.लक्स के इस विज्ञापन में एश्वर्या की मुस्कान ही नहीं उनका लुक भी नकली लग रहा है। उनके कंधे पर झाग वाले पैच ने तो पूरे विज्ञापन का सत्यानाश कर डाला।

2.ये उस ज़माने का विज्ञापन हैं जब लड़कियां लड़कों जैसी पैंट पहनती थीं और लड़के लड़कियों जैसी। देखिए सलमान ने पलाजो पैंट पहन रखी है।

3.इस विज्ञापन में डिंपल गर्ल प्रीति जिंटा किसी ज़ोम्बी से कम नहीं लग रही।

4. लगता है सैफ अली खान ने सुकून के लिए खुद को बाथरूम में बंद कर लिया है या फिर अपने बाथरूम में रखे ढेर सारे प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने के लिए।

5. इस विज्ञापन को देखकर आपको लग रहा होगा कि ये आईटी से संबंधित विज्ञापन है, मगर ऐसा कुछ नहीं है। आउटफिट ब्रैंड के इस विज्ञापन में जूही चावला के साथ खड़े मॉडल को देखकर तो ऐसा लग रहा जैसे वो सामने वाले को अभी एक तमाचा जड़ने वाला है।

6.जींस के इस विज्ञापन में दोनों न सिर्फ असहज दिख रहे हैं, बल्कि आई शब्द की बिंदी भी बिल्कुल गलत जगह लगी है, लगता है डिज़ाइनर ने जैकी से अपनी खुन्नस निकाली है।

This his wife, right?

7.बेचारे शत्रुघ्न सिन्हा का इकलौता साथी जाम भी खत्म हो गया। महफिल में रंग जमाने वाले शराब का ऐसा मायूसी वाला विज्ञापन क्यों बनाया, पता नहीं।

8.पान मसाले को देखकर कोई सुपरस्टार इतना एक्साइटेड हो जाता है, जैसे उसे करोड़ों की फिल्म मिल गई हो, शायद पहली बार देखा होगा आपने।

9.जिस प्रोडक्ट का टारगेट बच्चों तक पहुंचना हो उसमें ऐसे शख्स को लाना जो बच्चों के लिए किसी डरावने सपने की तरह हो, कुछ बात समझ नहीं आई न? पता नहीं विज्ञापन बनाने वाले ने क्या सोचकर गब्बर सिंह से पारले जी बिस्किट का विज्ञापन करवाया होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *