बॉलीवुड बायकॉट ट्रेंड पर पंकज त्रिपाठी का छलका दर्द, कहा- हमें जरूरत है आत्म-मूल्यांकन की

इन दिनों देशभर में बॉलीवुड फिल्मों के बायकॉट का चलन तेजी से बढ़ रहा है। एक्टर आमिर खान और एक्ट्रेस करीना कपूर की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ के विरोध में शुरू हुए इस बायकॉट ट्रेंड का असर अब लगभग हर बॉलीवुड फिल्मों पर देखने को मिल रहा है। बहिष्कार की वजह से इन फिल्मों को काफी नुकसान भी झेलना पड़ रहा है। सोशल मीडिया पर चल रहे इस ट्रेंड पर इंडस्ट्री के कई कलाकार अपने विचार रख चुके हैं। इसी क्रम में अब इंडस्ट्री के एक और नामी कलाकार ने इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा है।

बॉलीवुड के प्रतिभाशाली और बेहतरीन अभिनेताओं में से एक पंकज त्रिपाठी ने इस पर बात करते हुए अपने विचार रखे। इस दौरान उन्होंने इस पर भी चर्चा की कि महामारी के बाद फिल्में क्यों नहीं चल रही हैं। बायकॉट ट्रेंड पर पंकज त्रिपाठी ने कहा, “हम क्या बना रहे हैं और इसे कैसे बना रहे हैं, इस बारे में आत्म-मूल्यांकन की जरूरत है। यह बेहद जरूरी है क्योंकि यही मुख्य कमी है।”

पंकज त्रिपाठी ने कहा कि “अगर कोई फिल्म दर्शकों को पसंद नहीं आती है, तो इसका बहिष्कार नहीं किया जाता है। लेकिन अगर लोग वह फिल्म देखने सिनेमा हॉल नहीं जाते, तो यह भी तो बहिष्कार ही है? तब तो कोई सोशल मीडिया अभियान नहीं होता और ना ही कोई हैशटैग होता है, लेकिन फिर भी फिल्म नहीं चलती है। लेकिन हां, आत्म-मूल्यांकन की जरूरत है।”

पिछले दिनों पंकज की फिल्म ‘83’ ने भी बॉक्स ऑफिस पर कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया था, जिस के बारे में बात करते हुए पंकज ने कहा कि, “फिल्म के खराब प्रदर्शन पर अफसोस नहीं होता, फिल्म में मैंने पैसे थोड़ी लगाए है। मैंने फिल्म में सिर्फ प्रतिभा का निवेश किया था। मैंने जो भी किया वह पूरी ईमानदारी से किया और फिर उसके बाद जो होता है, वह मेरे हाथ में नहीं है।”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page