महेश भट्ट ने लिखा- मैं नहीं चाहता कि मुझे अच्छे इंसान के रूप में याद कर मेरे नाम पर किसी जगह का नाम रखा जाए, लोगों ने लगाई जमकर क्लास

सुशांत सिंह राजपूत की आत्मह’त्या के बाद से कुछ बॉलीवुड सेलिब्रिटीज को सोशल मीडिया पर जमकर  ट्रोल किया जा रहा है। खासतौर पर करण जौहर, सलमान खान, आलिया भट्ट और महेश भट्ट को तो उनके हर ट्वीट के बाद निशाने पर लिया जा रहा है। इसी बीच बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत मामले में मुंबई पुलिस की जांच पर कई तरह के सवाल उठाए। इसके साथ ही एक्ट्रेस ने फिल्म निर्माता- निर्देशक करण जौहर, फिल्म निर्माता महेश भट्ट, निर्माता आदित्य चोपड़ा और फिल्म समीक्षक राजीव मसंद से पूछताछ ना किए जाने पर भी गुस्सा जाहिर किया। कंगना ने कहा है, इन चारों को पूछताछ के लिए बुलाया जाना चाहिए था, लेकिन अभी तक इनसे पूछताछ नहीं की गई। कंगना ने दावा किया है कि अगर वह अपने बयानों को साबित नहीं कर पाती हैं तो पद्मश्री सम्मान वापस कर देंगी।

कंगना के इस इंटरव्यू के बाद महेश भट्ट ने उनपर निशाना साधते हुए ट्वीट्स किए। हालांकि अपने ट्वीट पर महेश भट्ट खुद ही ट्रोल हो रहे हैं। महेश भट्ट ने एक कोट भी साझा किया। जिसमें लिखा था- ”सच्चे शब्द स्पष्ट नहीं होते हैं। मधुर शब्द सत्य नहीं होता। समझदार पुरुषों को अपनी बात साबित करने की जरूरत नहीं है; जिन पुरुषों को अपनी बात साबित करने की जरूरत है, वे बुद्धिमान नहीं हैं।” महेश भट्ट ने इस कोट के जरिए कंगना रनौत को जवाब दिया है।

इसके अलावा महेश भट्ट ने अपने ट्वीट में लिखा- मैं नहीं चाहता कि भावी पीढ़ी मुझे याद रखे। मैं नहीं चाहता कि दुनिया मुझे एक अच्छे व्यक्ति के रूप में याद करे। आप याद रखने के लिए सब कुछ करते हैं। आप अपने नाम पर हवाई अड्डे, टिकट, स्मारक चाहते हैं। चाहिए… स्थायी जीवन संभव नहीं है। स्थायित्व की खोज मनुष्य की त्रासदी है।

महेश भट्ट को उनके इस ट्वीट पर ट्रोल करते हुए एक यूजर ने लिखा- कोई भी यहां बेवकूफ नहीं है जो तुम्हें अच्छा इंसान माने।

एक यूजर ने लिखा-क्योंकि हमने एक सड़क को सुशांत सिंह राजपूत रोड नाम दिया है। समझे अब सब दुखती रग कहां है।

किसी ने लिखा कि रोज ट्रोल होने के लिए चले आते हो, तो किसी ने लिखा- इतना बेशर्म भी कोई होता है क्या?

एक अन्य यूजर ने लिखा- जनता तुम्हें कभी माफ नहीं करेगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *