शाहरुख खान जर्नलिस्ट पर भड़के और कहा मेरी बेटी सांवली है लेकिन………

बेटियां हर पिता को जान से प्यारी होती हैं और हर बेटी उसके पिता के लिए दुनिया की सबसे खूबसूरत लड़की होती है और किसी क्वीन से कम नहीं होती। बॉलीवुड के किंग खान-शाहरुख खान का भी यही मानना है। कोलकाता फिल्म फेस्टिवल के उद्घाटन पर पहुंचे शाहरुख खान ने अपनी बेटी को लेकर एक ऐसा ही बयान दिया। एक जर्नलिस्ट ने उनसे उनके फेयरनेस क्रीम के विज्ञापन पर हुए बवाल पर एक सवाल किया था जिस पर शाहरुख खान थोड़े बिगड़ते नजर आए और इस पर बहुत बातें कह डाली। शाहरुख ने जवाब दिया कि वे अपने प्रशंसकों के प्रति कभी भी गैर-ईमानदार नहीं रहें और ना ही कभी किसी शख्स को उसके लुक के आधार पर जज करते हैं। शहरुख ने आगे कहा कि मैं खुद को भी कभी खूबसूरत नहीं मानता, मैं एक अच्छा, लंबा और स्मार्टी लुक वाला इंसान नहीं हूं, मेरी बॉडी भी उतनी अच्छी नहीं है, ना ही मुझे अच्छा डांस आता है और ना ही मेरे बाल अच्छे हैं, और ना ही मैं ऐसे एक्टिंग स्कूल से आया हूं जहां यह सब सिखाया जाता है तो कैसे मुझमें यह सब गुण आ सकते हैं। शहरुख ने आगे कहा कि अगर कुछ लोगों को अभी भी लगता है कि मैं उनके प्रति ईमानदार नही हूं तो मेरा विश्वास करो, क्योंकि मैं जैसा हूं वैसा ही करने की कोशिश करता हूं।

शाहरुख ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा- क्योंकि मेरी पत्नी और बच्चे भी साधारण लोगों की तरह है। मैं उन्हें गालियां दूंगा अगर वह दूसरे लोगों को इन सब चीजों पर जज करेंगे, मैं एक निम्न और माध्यम वर्ग का हूं इसलिए मुझमें यह सब चीजें नहीं है, लेकिन देखो मुझे, मेरे पास अब स्टारडम है और अच्छा भी दिखता हूं, मैं पोस्टर ब्वॉय भी हूं, क्या मजाक है यह सब? मैं आपको बता दूं कि मैं अपने रूम में चेरिल लेड और क्लिंट इस्टवुड के फोटो लगाया करता था, लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा कि मैं इनके जैसा बन जाउं क्योंकि यह गुण मेरी जिंदगी से कभी जुड़े ही नही।

इसके बाद शाहरुख खान ने अपनी लाडली बेटी सुहाना खान को लेकर कहा कि मैं पूरी ईमानदारी के साथ कहूंगा, हां मेरी बेटी सांवली है लेकिन वह दूनिया की सबसे खूबसूरत लड़की है।

सुहाना खान इस साल 18 साल की हो गई हैं और वोग मैगजीन से उन्होंने कवर डेब्यू किया है। इस दौरान सुहाना ने एक इंटरव्यू में कहा था वह भविष्य में एक एक्ट्रेस बनना चाहती हैं। फिलहाल वह लंदन में अपनी पढ़ाई पूरी कर रही हैं, वह वहां एक प्राइवेट बोर्डिंग स्कूल में पढ़ती हैं। सुहाना 16 साल की उम्र में ही लंदन पढ़ने चली गई थीं। इस पर उन्होंने कहा था कि ’16 साल की उम्र में लिया गया यह फैसला मेरी जिंदगी का बहुत अहम फैसला है, क्योंकि एक अलग माहौल में रहने से मेरा आत्मविश्वास और ज्यादा बढ़ गया है क्योंकि गलियों में चलना और साधारण लोगों की तरह ट्रेन पकड़ना, यह सब मुंबई में मेरे लिए इतना आसान नहीं था।’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *