अदनान सामी के बेटे अजान ने कहा- मैं गर्व से पाकिस्तान को अपना घर मानता हूं, पिता के भारत प्रेम को लेकर भी कह दी ये बात

भले ही भारत के मशहूर गायक और कंपोज़र अदनान सामी के पास भारत की नागरिकता है, लेकिन वह मूल रूप से पाकिस्तान के रहने वाले हैं। साल 1999 में अदनान सामी भारत आए और अपने गाने के हुनर की वजह से बॉलीवुड इंडस्ट्री से लेकर आम जनता के दिल में अपनी खास जगह बना ली। अदनान को भारत के लोगों से इतना ज्यादा प्यार मिला जिसकी वजह से उन्होंने यहां बसने का मन बना लिया। अदनान सामी ने तो भारतीय नागरिकता ले ली थी, लेकिन उनके बेटे अजान सामी खान अभी भी पाकिस्तान में ही रहते हैं।

हाल ही में सिंगर अदनाम सामी के बेटे अजान सामी खान ने बीबीसी को एक इंटरव्यू दिया है। इस इंटरव्यू के दौरान उनसे उनकी निजी जिंदगी और नागरिकता को लेकर कई सवाल पूछे गए। अजान खान ने पिता अदनान की नागरिकता पर बात करते हुए कहा- “इस बारे में मैंने अपने पिता से अभी तक बात नहीं की, इसके पीछे की वजह मेरे पिता ही हैं। क्योंकि मैं उन्हें बहुत प्यार और उनका सम्मान करता हूं। उनकी अपनी लाइफ है, ये उनका फैसला है कि उन्हें कौन से देश में रहना है और किस देश को अपना घर बताना है। मैं उनके इस फैसले का सम्मान करता हूं, लेकिन मेरा फैसला है कि मैं पाकिस्तान को अपना घर कहना चाहूंगा और मैं पाकिस्तान में ही काम करूंगा”।

अज़ान सामी खान पाकिस्तान को अपना घर कहना ज्यादा पसंद करते हैं। अजान खान ने आगे कहा- “मैंने अपनी जिंदगी का काफी समय भारत में बिताया है, लेकिन पाकिस्तान को अपना घर कहने में मुझे कोई संकोच नहीं है। मैं गर्व से पाकिस्तान को अपना घर मानता हूं। भारत में मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं, मैंने अपनी टीनएज वहीं बिताई है। लेकिन अब पाकिस्तान ही मेरा घर है क्योंकि यहां रहते हुए मैं बड़ा हुआ और पाकिस्तान फिल्म इंडस्ट्री मेरे परिवार जैसी है। यहां मेरे पास ढेर सारी उम्मीदें और आकांक्षाएं हैं जिसे मैं पाकिस्तानी फिल्म इंडस्ट्री में अपना छोटा सा योगदान बता सकता हूं, यही वजह है कि इसे मैं अपना परिवार कहता हूं”।

भारत-पाकिस्तान और कश्मीर मुद्दे को लेकर अजान खान से उनके पिता अदनान सामी का नजरिया भी पूछा गया। इस पर अजान खान ने कहा है कि उनके और अदनान के विचार इस विषय पर बिल्कुल अलग हैं। इसके अलावा अजान खान ने पिता अदनान को लेकर और भी कई बातें कीं।

अजान ने अदनान के बारे में बातचीत पर कहा- “वो और मैं जो बात करते हैं, वह हमारे बीच रहनी चाहिए। मैं अपनी मां के साथ बड़ा हुआ हूं। लेकिन पिता के साथ मेरा रिश्ता दोस्ती का रहा। अक्सर उनके पास मैं सलाह के लिए जाता हूं। हम कई बार महीनों तक बात नहीं कर पाते हैं। जब करते हैं, तब सिर्फ हम ही होते हैं। मैं बच्चा हूं। मेरे माता-पिता क्या करते हैं, उस पर टिप्पणी सही नहीं है। हम सलाह दे सकते हैं, हम सुझाव दे सकते हैं। हम यह नहीं बता सकते हैं कि उन्हें करना क्या है”। अजान ने बताया- “मैं पिता के साथ बहुत सारी चीजें साझा करता हूं। वे मेरे सर्वश्रेष्ठ आलोचकों में से एक हैं। एक बात जिसका मैं हमेशा आभारी रहूंगा वह यह है कि उन्होंने कभी भी मेरे संगीत को प्रभावित करने की कोशिश नहीं की”।

अजान अदनान सामी की पहली पत्नी जेबा बख्तियार के बेटे हैं। अज़ान भी पिता की तरह म्यूज़िक कंपोज़र हैं। उल्लेखनीय है कि 46 साल के अदनाम ने तीन शादियां की हैं। ज़ेबा बख्तियार से 1993 में, फिर 2001 में सबा गलदरी से और 2010 में रोया फरयाबी से। अजान की मां का नाम ज़ेबा बख्तियार है, जिनसे अदनाम ने 1993 में शादी की थी, लेकिन यह शादी सिर्फ चार साल तक चली थी और 1997 में उनका तलाक हो गया था। जेबा अपने बेटे अजान की कस्टडी को लेकर भी सुर्खियों में छाई रही थीं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *