ऋषि कपूर के दिलचस्प कबूलनामे: दाऊद के साथ चाय पीने से लेकर पैसे देकर अवार्ड खरीदने तक ऋषि कपूर के कुछ रोचक खुलासे

अभिनेता ऋषि कपूर का 30 अप्रैल को 67 साल की उम्र में मुंबई में निधन हो गया। 29 अप्रैल बुधवार रात खबर आई थी कि सांस लेने में परेशानी के कारण ऋषि कपूर को एचएन रिलाइंस फाउंडेशन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। ऐसे में बॉलीवुड के शोमैन कहे जाने वाले राज कपूर के मंझले बेटे ऋषि कपूर के जीवन के कुछ खास किस्सों के बारे में बात करते हैं:

जनवरी 2017 में रिलीज़ हुई में ऋषि कपूर की ‘बायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला: ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ में ऋषि की लाइफ के कई रोचक खुलासे किए गए हैं। ऋषि कपूर एवं सीनियर एंटरटेनमेंट जर्नलिस्ट मीना अय्यर ने इस किताब को पूरे मन से लिखा है और इसमें ऋषि कपूर के जीवन की दास्तां को खुल कर पेश किया है।

किताब का शीर्षक उन पर फिल्माए गए गीत ‘खुल्लम खुल्ला प्यार करेंगे हम दोनों’ से लिया गया था। हार्पर कॉलिन्स की ओर से रिलीज की गई मीना अय्यर द्वारा लिखी गई इस किताब में ऋषि कपूर ने अपनी जिंदगी से जुड़े हर पहलू को खुलकर उजागर किया है। आइए बात करते हैं उन्हीं में से 5 ऐसे किस्सों की जिसे सुनते ही लोग हैरान रह गए थे।

दाऊद इब्राहीम के साथ पी चुके हैं चाय

किताब में ऋषि ने अपने और दाऊद इब्राहीम को लेकर एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। ऋषि कपूर 1993 मुंबई की घटना से पहले 1988 में दुबई में दाऊद के साथ चाय पी चुके हैं। ऋषि ने साफ़ शब्दों में कहा है कि दाऊद को 1993 से पहले सिर्फ एक गैंगस्टर के रूप में जाना जाता था, तब उसे देश के लिए खतरा नहीं माना जाता था। ऋषि ने कहा कि 1988 में आशा भोसले और आरडी बर्मन के प्रोग्राम में शामिल होने के लिए जब वे अपने दोस्त बिट्टू आनंद के साथ दुबई पहुंचे तो एयरपोर्ट पर एक अजनबी ने उन्हें फोन पकड़ाते हुए कहा कि दाऊद साहब बात करेंगे। दाऊद ने मेरा स्वागत किया और चाय पर बुलाया। उन्हें दाऊद के पास इस तरह ले जाया गया जिससे उन्हें दाऊद के घर की लोकेशन पता ना चल सके। वहां पहुंचने पर दाऊद ने कहा कि वह खुद शराब नहीं पीते हैं और ना ही किसी को पिलाते हैं इसलिए उन्हें चाय पर इनवाइट किया है। इस मुलाकात के दौरान ऋषि कपूर करीब चार घंटे तक दाऊद के खास मेहमान बने रहे। दाऊद ने ऋषि की फिल्म ‘तवायफ’ की तारीफ की क्योंकि उसमें ऋषि का  नाम दाऊद था। वहां जाने से पहले ऋषि काफी डरे हुए थे लेकिन वहां पहुंचकर रिलैक्स हो गए।

नीतू सिंह नहीं थीं ऋषि कपूर का पहला प्यार

इसी किताब में ऋषि ने बताया था कि नीतू सिंह से शादी से पहले वे यास्मीन मेहता नाम की एक पारसी लड़की से प्यार करते थे। किताब में यास्मीन के बारे में ऋषि ने ज्यादा तो नहीं बताया लेकिन उन्होंने यह जरूर कहा था कि जब नीतू से उनकी पहली मुलाकात हुई थी, तब वे यास्मीन को डेट कर रहे थे। ‘बॉबी’ की सक्सेस के बाद यास्मीन को लगा कि ऋषि ‘बॉबी’ में अपनी को-स्टार डिंपल कपाडिया से प्यार करते हैं और गलतफहमी का शिकार हुईं यास्मीन ने ऋषि के प्यार को ठुकरा दिया। ऋषि कपूर ने उन्हें समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो नहीं मानीं और उनका ब्रेकअप हो गया।

राजेश खन्ना ने समुद्र में फेंक दी ऋषि कपूर की अंगूठी

अपनी किताब में ऋषि कपूर ने बताया था जब वे यास्मीन के साथ रिलेशनशिप में थे तब यास्मीन ने मुझे एक रिंग गिफ्ट की थी लेकिन फिल्म ‘बॉबी’ की शूटिंग के दौरान डिंपल ने वो रिंग मुझसे लेकर पहन ली। जब राजेश खन्ना ने डिंपल को प्रपोज किया तो उनसे उस रिंग को समुद्र में फेंकने को कहा। जब डिंपल ने ऐसा किया, तब ही राजेश और उनके बीच कमिटमेंट की शुरुआत हुई। लेकिन सच्चाई ये थी कि ऋषि कभी डिंपल से प्यार नहीं करते थे।

ऋषि कपूर ने पैसे देकर खरीदा था अवॉर्ड

अपनी ऑटोब्रायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला’ में ऋषि कपूर ने बताया था कि 1973 में उन्होंने 30 हजार रुपये देकर फिल्म ‘बॉबी’ के लिए बेस्ट एक्टर का फिल्मफेयर अवॉर्ड अपने नाम किया था, क्योंकि उस वक्त ‘जंजीर’ में बेहतरीन अभिनय करने के लिए अमिताभ बच्चन उनके कॉम्पिटीटर थे। बाद में ऋषि कपूर ये भी सोचते थे कि इसी वजह से अभिताभ और उनके रिश्ते में खटास भी आई थी, क्योंकि अमिताभ को लगता था कि अवॉर्ड वे डिजर्व करते थे। हालांकि बाद में दोनों के बीच ऐसा कुछ नहीं रहा।

ईगो फैक्टर के चलते लगभग ठुकरा दी थी ‘कभी-कभी’

ऋषि ने अपनी किताब में बताया कि उन्होंने सुपरहिट फिल्म ‘कभी-कभी’ का ऑफर शुरुआत में ठुकरा दिया था। इसकी दो वजह थीं। एक उन्हें अमिताभ बच्चन को चुनौती देनी थी। दूसरा उन्हें लगता था कि नीतू का रोल उनसे ज्यादा दमदार था।

ऋषि कपूर को मारने पहुंच गए थे संजय दत्त

इस किताब में ऋषि कपूर ने ये भी बताया कि एक बार संजय दत्त उन्हें मारने उनके अपार्टमेंट में पहुंच गए थे। दरअसल संजय को शक था कि उनकी गर्लफ्रेंड टीना मुनीम का अफेयर ऋषि के साथ चल रहा है। हालांकि, नीतू सिंह के समझाने पर संजय वापस लौट गए थे।

पिता की लव लाइफ का खुलासा

अपनी ऑटोब्रायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्ला’ में ऋषि कपूर ने अपने पिता की लव लाइफ का भी खुलासा किया था। ऋषि ने लिखा कि उनके पिता को शराब, सिनेमा और लीडिंग लेडीज़ से प्यार था। ऋषि ने वेटरन एक्ट्रेस नर्गिस और वैजयंतीमाला के साथ अपने पिता राज कपूर के अफेयर की बातों को खुल्लम खुल्ला स्वीकार किया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *